फॉरेक्स ट्रेडिंग शब्दावली की जानकारी

FX के नौसिखियों के लिए नए शब्दों और वाक्यांशों को सीखने का कार्य थोड़ा चुनौतीपूर्ण लग सकता है। नीचे दिए गए शब्द सबसे बुनियादी शब्द हैं जिनके बारे में जानना एक असली खाते पर ट्रेडिंग शुरू करने से पहले बहुत आवश्यक है।

लॉट

ट्रेड के आकार या मात्रा का हिसाब अक्सर “लॉट” में किया जाता है। FX ट्रेडिंग में एक लॉट आधार करेंसी की 100,000 यूनिट्स को दर्शाता है।

लॉटFX यूनिट्स की संख्यासोनाचांदीतेल
मानक100,000100 औंस5,000 औंस1000 बैरल
मिनी10,00010 औंस500 औंस100 बैरल
मैक्रो1,0001 औंस50 औंस10 बैरल

FxPro में MT4, MT5 और cTrader के लिए लॉट का न्यूनतम आकार 0.01 (1000 यूनिट्स) है।

अभी कारोबार करना शुरू करें मुफ्त डेमो शामिल

सीएफडी ट्रेडिंग में हानि का जोखिम अत्यधिक होता है।

पिप, टिक और स्प्रेड

पिप:

“पिप” वह सबसे छोटी वृद्धि है जिसमें एक करेंसी युग्म चल सकता है। यह आम तौर पर एक युग्म में कोट करेंसी का चौथा दशमलव स्थान होता है। जापानी येन (JPY) के मामले में पिप कोट करेंसी का दूसरा दशमलव स्थान होता है।

पिप मुनाफे या नुकसान का निर्धारण करने में ट्रेडरों की मदद करता है जिनका हिसाब उन पिप्स की संख्या के अनुसार किया जाता है जिनमें कोई करेंसी अपनी खरीद या बिक्री के मूल्य के संबंध में बढ़ती या घटती है।

एक करेंसी युग्म की कोट करेंसी में पिप मूल्य की गणना करने के लिए: दशमलव स्थानों में पिप X ट्रेड का आकार

एक करेंसी युग्म की आधार करेंसी में पिप मूल्य की गणना करने के लिए: दशमलव स्थानों में पिप X ट्रेड का आकार / बाजार मूल्य

- FxPro कैलकुलेटर का उपयोग करें और अपनी सभी ट्रेडिंग गणनाओं को त्वरित और आसान बनाएं।
प्वाइंट:
अधिकांश करेंसियों के पांचवें दशमलव स्थान और जापानी येन के तीसरे दशमलव स्थान को “प्वाइंट” कहा जाता है। प्वाइंट ट्रेडरों को मूल्यों के उतार-चढ़ाव का अधिक सटीक संकेत देते हैं।
टिक:
जहां पिप वह सबसे छोटी बढ़त है जिसके द्वारा करेंसी के मूल्य में बदलाव हो सकता है, “टिक” वह वृद्धि है जिसके द्वारा वास्तव में ऐसा होता है। इस प्रकार, उदाहरण के लिए, अगर EUR/USD एक मिनट में तीन बार चलता है (1.10345 से 1.10456, और फिर नीचे 1.10234 पर), इनमें से प्रत्येक बदलाव को टिक कहा जाता है, भले ही वे एक पिप की तुलना में अधिक या कम हो सकते हैं।
स्प्रेड:

“स्प्रेड” एक करेंसी युग्म के बोली और मांग मूल्यों के बीच का अंतर है।

यहां क्लिक करें और FxPro द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाले स्प्रेड्स के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

लेवरेज और मार्जिन

लेवरेज” और “मार्जिन” ट्रेडरों को ऐसे पोजिशनों को नियंत्रित करने में सक्षम बनाते हैं जो अपने प्रारम्भिक निवेश के मूल्य से अधिक हो जाते हैं।

लेवरेज:

लेवरेज आपको बड़ी मात्राओं में ट्रेड करने में सक्षम बनाते हैं और इसे एक अनुपात के रूप में व्यक्त किया जाता है। नीचे दी गई तालिका देखें और जानें कि यह आपके ट्रेड के आकार को कैसे प्रभावित करता है:

प्रारंभिक निवेशलेवरेजट्रेड का आकार
$10001:1 (कोई लेवरेज नहीं)$1,000
$10003:1$3,000
$10005:1$5,000
$100010:1$10,000
$100020:1$20,000
$100033:1$33,000
$100050:1$50,000
$1000100:1$100,000
FxPro 1:500 तक का लेवरेज प्रदान करता है।यहां क्लिक करकेअधिक जानकारी प्राप्त करें।
मार्जिन:

मार्जिन आपके खाते के बैलेंस का वह प्रतिशत है जो आपके पोजिशनों को सुरक्षित करने के लिए आवश्यक है। आप जितना अधिक लेवरेज का उपयोग करते हैं, मार्जिन के रूप में आपके खाते के उतने ही कम बैलेंस की जरूरत होती है।

आधार करेंसी में आवश्यक मार्जिन की गणना करने के लिए: यूनिट्स में ट्रेड का आकार / लेवरेज

कोट करेंसी में आवश्यक मार्जिन की गणना करने के लिए: यूनिट्स में ट्रेड का आकार / लेवरेज X विनिमय दर

- FxPro कैलकुलेटर का उपयोग करके तेजी सेट्रेडिंग का हिसाब-किताब करें।.
- FxPro ट्रेडिंग एकेडमी या ट्रेडर्स ग्लॉसरी पर जाएं और फॉरेक्स शब्दावली के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।
अभी कारोबार करना शुरू करें मुफ्त डेमो शामिल

सीएफडी ट्रेडिंग में हानि का जोखिम अत्यधिक होता है।

FxPro ही क्यों?

ग्राहक निधि की सुरक्षा करना

विनियम और लाइसेंस

 

पता लगाएं कि क्यों दुनिया भर के व्यापारी FxPro को चुन रहे हैं

आपके धन की रक्षा के लिए हम कौन से कदम उठाते हैं के बारे में पढ़ें।

हम जिस अधिकार क्षेत्र में विनियमित होते हैं उसके बारे में पढ़ें।

 
UP